उत्तराखंड

गढ़वाल विवि में एनटीए के परीक्षा केंद्र बनाने की तैयारी तेज

श्रीनगर गढ़वाल। हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि में राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी(एनटीए) के परीक्षा केंद्र बनाने की तैयारियां की जा रही हैं। यदि विवि में एनटीए के मानकों के तहत स्थान मिलता है तो भविष्य में यहां नीट व जेईई सहित अन्य ऑनलाइन परीक्षाएं का केंद्र स्थापित हो जाएगा। जिससे गढ़वाल विवि के छात्र-छात्राओं सहित पूरे गढ़वाल क्षेत्र के अभ्यर्थियों को फायदा मिलेगा। एनटीए की ओर से इस संबंध में विवि को पत्र भेजा गया है। जिस पर विवि स्तर से चौरास परिसर में स्थान की तलाश शुरू कर दी गई है। एनटीए की ओर से अखिल भारतीय स्तर पर विभिन्न प्रतियोगी एवं प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं। केंद्रीय विश्वविद्यालयों के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर की प्रवेश परीक्षा भी इस बार एनटीए द्वारा कराई जा रही हैं। परीक्षा केंद्र की दिक्कतों को देखते हुए एनटीए यहां स्थायी तौर पर परीक्षा केंद्र बनाने के लिए प्रयासरत है। इस संदर्भ में एनटीए की महानिदेशक डॉ. विनीता जोशी ने विश्वविद्यालयों को पत्र भेजे हैं। पत्र में उन्होंने कहा है कि एनटीए को चुनिंदा उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश हेतु पूरे भारत में ऑनलाइन परीक्षण और मूल्यांकन करने का काम सौंपा है। यह परीक्षण ऑनलाइन/सीबीटी (कंप्यूटर आधारित) होगा। इसके लिए डिजीटल बुनियादी ढांचे की जरुरत है। उन्होंने कहा है कि परीक्षा केंद्र के लिए न्यूनतम 6500 वर्ग फीट स्थान जरूरी है।

एनटीए ने विवि में परीक्षा केंद्र बनाए जाने के लिए स्थान उपलब्ध कराए जाने को लेकर पत्र भेजा है। इसके लिए विवि स्तर से स्थान की तलाश शुरू कर दी गई है। विवि द्वारा एनटीए को केवल स्थान उपलब्ध कराना है, जबकि परीक्षा केंद्र में संसाधन जुटाने में आने वाला सारा खर्चा एनटीए वहन करेगा। इस केंद्र का प्रयोग विवि अपने कार्यों के लिए भी कर सकेगा। विवि के चौरास परिसर में ऐसे भवन की तलाश की जा रही है। यदि विवि में परीक्षा केंद्र बन जाता है तो यह गढ़वाल क्षेत्र के छात्रों के लिए फायदेमंद होगा। – प्रो. अनिल नौटियाल, नोडल अधिकारी, विवि संयुक्त प्रवेश परीक्षा(सीयूईटी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk