राष्ट्रीय

सीएम योगी आदित्यनाथ ने क्रिसमस के मौके पर धर्मांतरण की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों को दिए निर्देश

उत्तर प्रदेश। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में क्रिसमस के मौके पर धर्मांतरण की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। उन्होंने गृह विभाग और पुलिस के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि 25 दिसंबर को क्रिसमस के त्योहार को सौहार्दपूर्ण माहौल में मनाने की व्यवस्था की जाए। साथ ही इस बात पर विशेष नजर रखी जाए कि धर्मांतरण की घटनाएं न हों। सीएम ने कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार देर शाम शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जोन, मंडल, रेंज व जिला स्तर के अधिकारियों के साथ कानून-व्यवस्था की समीक्षा की। सीएम ने कहा कि जिलों के दौरों में उन्होंने देखा है कि कहीं-कहीं धार्मिक स्थलों पर दोबारा लाउडस्पीकर लगा दिए गए हैं। इस पर नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि कमिश्नरेट वाले जिलों में सभी डीसीपी के कार्यालय और आवास बनाएं जाएं। सभी अधिकारी अपने-अपने प्रभार वाले क्षेत्र में ही निवास करें। बैठक में उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र, प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद, डीजीपी डीएस चौहान समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों के खिलाफ अधिकारी संवेदनशीलता से काम करें और उनसे जुड़े प्रकरणों में अभियोजन को और प्रभावी बनाया जाए।शहरों में वाहनों के अवैध स्टैंडों के संचालन पर नाराजगी जताते हुए योगी ने कहा कि ऐसे स्थल आवांछनीय तत्वों का अड्डा बन जाते हैं। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि किसी भी जिले में अवैध टैक्सी, बस, रिक्शा स्टैंड संचालित न हों। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में अवैध शराब के धंधे को नेस्तनाबूद करने के लिए छापामारी करके कार्रवाई करने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने कहा कि नशेड़ी पुलिस कर्मियों की फील्ड में ड्यूटी न लगाई जाए।मुख्यमंत्री ने थाना और तहसील दिवस को और प्रभावी बनाने पर जोर देते हुए कहा कि इस मौके पर आने वाली शिकायतों को लंबित न रखा जाए। उसका तत्काल निस्तारण कराया जाए। उन्होंने सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी, पुलिस कप्तान, डीआईओएस, बीएसए, जिला पूर्ति अधिकारियों को कार्यालय में आम जनों से जरूर मिलने और उनकी समस्याओं के निस्तारण को कहा है।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के आयोजन के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने कहा कि बाराबंकी की तर्ज पर हर जिलों में भी एक दिवसीय निवेशक व निर्यातक सम्मेलन का आयोजन होना चाहिए। सीएम ने कहा कि डीएम और एसपी की मौजूदगी में जिला उद्योग बंधु की बैठकें नियमित हों और उसमें उद्यमियों की हर समस्या का समाधान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk