राष्ट्रीय

कादीपुर में स्वर्गीय सीडीएस विपिन रावत की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि

अर्जुन सिंह

दिल्ली। देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन की पहली पुण्यतिथि कादीपुर गांव में बनाई गई। इस अवसर पर उनके गांव तक सड़क मार्ग पहुंचने को लेकर केंद्र और राज्य सरकार से मांग करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।आज पूरा देश उन्हे मन, हृदय और आत्मा से नमन कर रहा है।पिछले वर्ष 8 दिसंबर को  तमिलनाडु के कुन्नूर के पास एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में उनका निधन हो गया था। जनरल बिपिन रावत के साथ उनकी पत्नी मधुलिका और भारतीय सेना के 11 और अफसरों की भी इस भीषण हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत हो गई थी।

आपको बता दें कि स्वर्गीय रावत करीब तीन वर्ष पहले जब एक किलोमीटर पैदल चलकर गांव में आए थे। उस वक्त उन्होंने अपने गांव तक गाड़ी में बैठकर पहुंचने की इच्छा जाहिर की थी। हालांकि उनकी यह इच्छा कभी पूरी ना हो सकी। लेकिन सीडीएस रावत के दिव्यंगत होने के बाद कादीपुर के रहने वाले सामाजिक कार्यकर्ता चौ हरपाल सिंह राणा द्वारा उनके गांव तक सड़क बनाने पर की गई घोषणाओं को, अमलीजामा पहनाने को लेकर उनके परिवार के संपर्क में है। उनके द्वारा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, एनएचएआई और प्रदेश के राज्यपाल सहित मुख्यमंत्री को अनेकों पत्र लिखे गए। जिसमे बीते वर्ष 22 दिसंबर पीएम कार्यालय द्वारा दिए गए जवाब में मोटर मार्ग के लिए बजट पास करने की बात कही थी। जिसके बाद वह विभाग से लगातार सड़क निर्माण कार्य का हालचाल लेते रहे।

इस बीच आजादी के अमृत महोत्सव पर घर घर तिरंगा अभियान के तहत 13 अगस्त को दिल्ली से स्व सीडीएस रावत के गांव उत्तराखंड पौड़ी जिले के सैंण तक तिरंगा यात्रा निकालकर तिरंगा फैराया। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के द्वारा गांव तक कच्ची सड़क पहुंचने पर विभाग की सराहना भी की। उन्होंने बताया कि बीते माह 6 अक्टूबर को मिले जबाब मे कहा गया है कि पहाड़ काटने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। उन्होंने  बताया कि पक्की सड़क बनने के बाद वह उनके गांव में अवश्य जाएंगे। इस अवसर पर श्रीमती सीमा राणा, स्वाति राणा आदि सहित अन्य व्यक्ति मौजूद रहे श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk