उत्तराखंड

हिमस्खलन और बस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों को राज्यसभा सासंद नरेश बंसल ने दी श्रद्धांजलि, कहा सरकार दुःख की इस घड़ी में पीड़ित परिजनों के साथ

देहरादून। सासंद राज्यसभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने कहा कि उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्र के द्रौपदी का डांडा पर्वत चोटी में हिमस्खलन होने के कारण फंसे हुए नेहरू इंस्टीटयूट ऑफ माउंटेनियरींग (निम) के 34 प्रशिक्षु व 7 पार्वतारोही प्रशिक्षकों में कुछ पर्वतारोहियों की दुःखद मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई है जो अत्यंत दुःखद है। सासंद बंसल ने कहा कि दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट (8848 मीटर) को 12 मई 2022 व इसके 15 दिन के बाद माउंट मकालू (8463 मीटर) फतेह करने वाली उत्तराखंड ही नही अपितु पूरे भारत का नाम रोशन करने वाली हमारे उत्तरकाशी की बेटी पर्वतारोही सविता कंसवाल अब हमारे बीच नहीं रही, हमने एक सितारा खो दिया। सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने कहा कि हिमस्खलन की इस दुर्घटना मे कालकल्पित हुए प्रशिक्षुओं की आत्मा को भगवान शांति प्रदान करे

सासंद राज्यसभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में बारातियों से भरी बस मंगलवार को देर शाम 500 मीटर गहरी खाई में गिर गई थी पर दुख वयक्त किया है। सासंद बंसल ने कहा कि इस बस में करीब 45 से 50 लोगों सवार थे व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में घटना की सूचना मिलते ही रेक्स्यू अभियान शुरू कर दिया गया। रेस्क्यू में एसडीआरएफ की टीमें लगी हुई हैं। सांसद नरेश बंसल ने कहा कि इस हादसे में अब तक 25 से ज्यादा लोगों के हताहत होने का दिल दहला देने वाला समाचार मिला एवं बचाव दल द्वारा जबकि अभी तक 21 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका है। जिसमे कई घायल हुए हैं। सभी के उचित उपचार हेतु प्रबंध किया गया है। सासंद बंसल ने कहा कि आज प्रातः काल से युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी स्वंय घटनास्थल पर पहुंच स्थिति पर नजर रखे हुए हैं ।

सासंद राज्य सभा उत्तराखंड नरेश बंसल ने प्रभु से दिवंगत आत्माओं को अपने श्री चरणों में स्थान देने तथा सभी के परिवार जनों को संकट की इस घङी मे दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। साथ ही सासंद बंसल ने सभी हताहतो के परिवार जनो के लिए संवेदना वयक्त की है व घायलों के शीध्र स्वास्थय लाभ की कामना की है ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk