उत्तराखंड

पुलिस ने किया फर्जी भर्ती सेंटर का भंडाफोड़, महिला समेत चार गिरफ्तार

हरिद्वार। लकसर क्षेत्र में चलाए जा रहे फर्जी भर्ती सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने एक महिला सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से लैपटॉप, प्रिन्टर, सीपीयू, फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र, विभिन्न विभागों की मोहरें, भारी मात्रा में अभ्यर्थियों की शैक्षिक अंकतालिकायें, एक दर्जन से अधिक चैक बुक, पास बुक, 90 हजार रूपए की नकदी, छह मोबाइल फोन, तीर कारे, आर्मी व पुलिस की वर्दी आदि बरामद हुई हैं। रोशनाबाद स्थित पुलिस कार्यालय में फर्जी भर्ती सेंटर का खुलासा करते हुए एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि सरकारी विभागों में भर्ती के नाम पर बेरोजगारों से लाखों रूपए की ठगी करने वाले गिरोह द्वारा लकसर के ग्राम टिक्कमपुर में फर्जी भर्ती सेंटर चलाया जाने की सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चार लोगो विजय नोटियाल पुत्र मीर सिंह, रेणु पुत्री मीर सिंह, नितिन पुत्र चमन निवासी टिक्कमपुर लक्सर व सिद्धार्थ पुत्र नवबहार निवासी धारीवाला पथरी को गिरफ्तार किया है। जबकि अजय नोटियाल पुत्र मीर सिंह निवासी टिक्कमपुर कोतवाली लक्सर फरार है। जिसकी तलाश की जा रही है।

एसएसपी ने बताया कि आरोपी सरकार विभागों में 10 प्रतिशत विभागीय भर्ती के नाम पर बेरोजगार युवाओं को ठगने का काम कर रहे थे। गिरोह द्वारा फिल्म स्पेशल 26 की तर्ज पर नामी होटलों में बुलाकर बेरोजगारों का इंटरव्यू लिया जाता था। इंटरव्यू देने के लिए आने वाले बेरोजगारों को बताया जाता था कि 10 प्रतिशत विभागीय कोटे वाले पदों की परीक्षा नहीं होती है। यह पद विभाग द्वारा अलग से भरे जाते हैं। जिससे बेरोजगार युवाओं में भ्रम की स्थिति बनी रहती थी और वे आसानी से इनकी धोखाधड़ी का शिकार हो जाते थे। बेरोजगार युवाओं से नौकरी के नाम पर पांच से दस लाख रूपये लेकर लोक सेवा आयोग तथा अधीनस्थ सेवा चयन आयोग व अन्य सरकारी विभागों के फर्जी नियुक्ति पत्र थमा देते थे। किसी को कोई शक ना हो इसके लिए आर्मी की वर्दी पहने दो गार्ड अपने साथ रखते थे। गार्डो को आठ हजार प्रतिमाह वेतन पर रखा गया था। एसएसपी ने बताया कि गिरोह के विरूद्ध जनपद के विभिन्न थानों रुड़की, बहादराबाद, मंगलौर, कलियर आदि में धोखाधड़ी की गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk