उत्तराखंड

भारतीय संस्कृति सुरक्षा संगठन की ओर से हिन्दू युवा एकता महासम्मेलन का किया गया आयोजन

देहरादून। देहरादून स्थित नन्दनी गार्डन गुलरघाटी में भारतीय संस्कृति सुरक्षा संगठन की ओर से हिन्दू युवा एकता महासम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर स्वामी दर्शन भारती, स्वामी प्रबोधानन्द, डॉ. माधव मैठाणी, डॉ. लक्ष्मण सिंह बिष्ट हरिकृष्ण किमोठी, महन्त आदियोगी, दिलवार सिंह रावत शामिल हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्वामी दर्शन भारती द्वारा बताया गया कि धर्म की रक्षा करने के लिए आज के युवाओं का आगे आना बहुत जरुरी है, और इसी लिए आज युवा एकता महासम्मेलन का आयोजन किया गया।

इस सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा युवाओं को दल राजनीतिक हिंदुत्व से जोड़ना है, ताकि अपनी सनातन संस्कृति को जोड़ के रखा जा सके, और इसे ज्यादा से ज्यादा मजबूत बनाया जा सके। ताकि कोई भी ईस्लामिक कटर पंथी इसके आगे खड़ा न हो सके।

मुख्य अतिथि स्वामी दर्शन भारती ने कहा कि आज समाज उस रुप से एकत्रित नहीं हो पाया है, जिस रुप में उसे एकत्रित होना चाहिए था, और कहीं न कहीं यह हम सब की ही गलती है। जो हम सभी मिलकर अपने समाज को एक ढांचे में एकत्रित नहीं कर पाए है। स्वामी दर्शन भारती ने आगे कहा कि हम अपनी इस गलती को स्वीकार करते हुए इसे सुधारने के प्रयास के साथ अपने लोगों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में जोड़कर एक मजबूत संगठन का निर्माण करेंगे, इसके साथ ही स्वामी भारती ने बताया कि आज देवभूमि उत्तराखंड में वह समय आ चुका है कि जब सभी हिंदू संगठनों को एक साथ मिलकर धर्म सनातन के लिए कार्य करना है। इस देवभूमि की शांति और संस्कृति के लिए सभी हिंदू संगठनों को एकजुट होकर कार्य करना है, और अपनी देवभूमि की संस्कृति और शांति को बनाए रखना है।

 

कार्यक्रम में भूपेश जोशी, विजयपंत, शैलेन्द्र डोभाल, आचार्य उमाकान्त भट्ट, भूपेन्द्र भट्ट, रन्जीत पाठक, राधा धोनी सेमवाल, तरुण कान्त, प्रमोद राणा, अनिल, मनवीर सिंह भण्डारी, संजीव पयाल आदि लोग मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk