उत्तराखंड

अवैध कब्जाधारियों के खिलाफ बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेंद्र अजय का चाबुक, एक साल में 22 लाख की वसूली और 188 लोगों को नोटिस

देहरादून। श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) ने अपनी विभिन्न परिसंपत्तियों पर अवैध कब्जों, लीज अथवा किराये पर काबिज लोगों के विरुद्ध कार्रवाई शुरू कर दी है। इस क्रम में बीकेटीसी द्वारा 188 लोगों को नोटिस जारी किए गए हैं। बीकेटीसी की कार्रवाई के बाद इस वर्ष अब तक बकायदारों से 22 लाख रूपये की वसूली की जा चुकी है।

बीकेटीसी की प्रदेश के अलावा देश के कुछ अन्य राज्यों में भी विभिन्न परिसंपत्तियां हैं, जिनमें कुछ संपत्ति अवैध कब्जों के चलते न्यायालयों में विचाराधीन हैं। कुछ संपत्तियां बीकेटीसी द्वारा किराए अथवा लीज पर दी गई हैं। साथ ही कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके साथ कोई अनुबंध नहीं हुआ है और वे लंबे समय से अनधिकृत रूप से मंदिर संपत्तियों पर काबिज हैं और वे किराये का भुगतान भी नहीं कर रहे हैं। कई लोगों की किराया राशि वर्तमान बाजार दरों के अनुसार संशोधित भी नहीं की गई है।

N

बीकेटीसी का अध्यक्ष नियुक्त होने के पश्चात अजेंद्र अजय द्वारा मंदिर की संपत्तियों का लेखाजोखा तैयार करवाया गया। उन्होंने बकायेदारों से वसूली के लिए निर्देश जारी किए। इसके पश्चात विगत पिछले एक वर्ष में बकायेदारों से 22 लाख रूपये की वसूली की गई। बीकेटीसी ने ऐसी 188 लोगों को चिन्हित किया है, जिनके द्वारा लंबे समय से मंदिर की सम्पत्ति पर अवैध कब्ज़ा अथवा अनुबंधों की शर्तों के अनुरूप किराए का भुगतान नहीं किया है। मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी योगेंद्र सिंह की ओर से इन लोगों को नोटिस भेज कर अप्राधिकृत अध्यासन को खाली करने के नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस में बकाया जमा ना करने और मंदिर की सम्पत्ति से कब्ज़ा खाली ना करने पर मंदिर समिति एक्ट के तहत विधिक कार्रवाई अमल में लाने की चेतावनी दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk