उत्तराखंड

जानिए दीपावली पर उत्‍तराखंड में कैसा रहेगा मौसम का मिजाज

देहरादून। उत्‍तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ कमजोर पड़ गया है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ कमजोर पड़ने के कारण प्रदेश में मौसम शुष्क है। अगले पांच दिनों तक मौसम के मिजाज में किसी प्रकार के बदलाव की उम्मीद नहीं हैं। ऐसे में तापमान सामान्य बना रहेगा। दीपावली के बाद से सुबह-शाम ठंड में इजाफा हो सकता है।

दीपावली पर उत्तराखंड में मौसम शुष्क रहने के आसार

उत्तराखंड में ऊंचाई वाले इलाकों में वर्षा और बर्फबारी का दौर थमने के बाद अब आसमान साफ हो गया है। प्रदेशभर में शुष्क मौसम के बीच चटख धूप खिल रही है। मौसम विभाग के अनुसार अगले पांच दिन प्रदेश में मौसम शुष्क बना रहने का अनुमान है। लिहाजा, दीपावली पर आसमान साफ रहेगा। वर्षा और बर्फबारी का दौर फिलहाल थम गया है। ज्यादातर क्षेत्रों में चटख धूप खिल रही है। हालांकि, पहाड़ से लेकर मैदान तक सुबह-शाम ठंड महसूस की जा रही है।चारधाम समेत आसपास की चोटियों पर बीते दिनों हुई बर्फबारी के कारण यहां पर्वतीय क्षेत्रों में ठिठुरन भी महसूस की जा रही है। दोपहर में चटख धूप खिलने से मैदानों में मौसम सामान्य बना हुआ है।

भू-कटाव से पगड़डी बना मोटर मार्ग, लोग परेशान

साहिया में भू-कटाव से साहिया पाटन मोटर मार्ग कटकर पगडंडीनुमा हो गया है। मुख्य मार्ग होने की वजह से इस पर आवागमन ठीक रहता है। मार्ग के टूटने पर पाटन के करीब 50 परिवारों की समस्या बढ़ गई है। समस्या बताने के बाद भी लोनिवि व सिंचाई के अधिकारी लापरवाह बने हुए हैं। इसी मार्ग पर उत्कृष्ट जौनसार बावर राजकीय इंटर कालेज व राजकीय प्राथमिक विद्यालय भी हैं। मार्ग के नीचे लगातार भू कटाव के कारण स्कूल पैदल जाने वाले बच्चों को भी खतरा बना रहता है। 25 सितंबर को साहिया क्षेत्र में आपदा के कारण साहिया पाटन मोटर मार्ग भूस्खलन की चपेट में आ गया था। उस समय से लगातार भू कटाव होने की वजह से सड़क संकरी होती जा रही है। आपदा के दूसरे दिन ही सड़क का खाई साइड का हिस्सा टूटकर अमलावा नदी में समा चुका है।

दुर्घटना होने का खतरा बढ़ गया

मार्ग संकरा होने पर दुर्घटना होने का खतरा बढ़ गया है। साहिया पाटन मोटर मार्ग से करीब 20 गांव जुड़े हैं। साहिया समाल्टा पानुवा, पानुवा मसराड, पाटा बैंड से मांख्टी पुरोडी चकराता, इनारी बैंड से दातनू बडनू जोशी गांव के संपर्क मार्ग कालसी चकराता मोटर मार्ग से जुड़ते हैं। मार्ग बदहाल होने पर समाल्टा में चालदा महासू के दर्शन को आने वाले श्रद्धालु भी परेशान हैं। उधर, लोनिवि साहिया के अधिशासी अभियन्ता प्रत्युष कुमार का कहना है कि सड़क की बैक कटिंग करके सड़क चौड़ी हो सकती है। लेकिन अमलावा नदी से मार्ग की ऊंचाई काफी है, जिस कारण सुरक्षात्मक कार्य करने में दिक्कतें आ सकती है। एक माह बीतने के बाद भी सड़क सुधारीकरण कार्य न होने से लोग परेशान हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk